प्रोटीन क्या है :- 
                   




👉 प्रोटीन   एक टाइप की अमीनो एसिड है जो हमारे शरीर की छोटी से छोटी कोशिका को  बनाता है |
      
        


 👉 एक इंसान का शरीर कोशिकाओं से मिलकर बना हुआ होता है, एक इंसान  के शरीर का निर्माण   कोशिकाओं से होता है,क्योंकि कोशिकाओं  से उत्तक बनते हैं और उत्तक से अंग बनते हैं उनको मिलाकर हमारा पूरा शरीर बनता है,और कोशिका को बनाने में सबसे जरूरी प्रोटीन  का प्रयोग होता है.

👉 एक शरीर को हेल्दी रहने के लिए लगभग उसके बॉडी किलोग्राम वेट के बराबर  उतने ग्राम प्रोटीन की जरूरत होती है,ज्यादातर इसे दो प्रकार से लिया जाता है :-
1)-नेचुरल 
2)-मानव  निर्मित

👉 प्राकृतिक   तरीके से यह हमें हमारे खाने से मिलता रहता है जैसे की सब्जियां हमारी दालें,   ड्राई फ्रूट्स मीट,  चिकन इत्यादि इसके अच्छे सोर्स हैं. 

        


👉 दूसरी तरफ मानव निर्मित हमें बाजार से  पाउडर फॉर्म में मिल जाता है,  इसे दूध से तैयार किया जाता है  जो एक लंबा प्रोसेस है |
 बाजार में आपको अलग-अलग प्रकार के प्रोटीन पाउडर मिल जाते हैं !

 एक अच्छा प्रोटीन पाउडर कैसे सेलेक्ट करें:-




  1) सबसे पहले एक अच्छी ब्रांड को सेलेक्ट करें और  उसकी मैन्यूफैक्चर डेट एक्सपायरी डेट डिब्बा सील पैक्ड है या नहीं है यह सब चीजें पहले चेक कर  ले|

2)  इंग्रेडिएंट्स को अच्छी तरह से पढ़े और अच्छी तरह से चेक कर ले,  और इसमें प्रोटीन की मात्रा को  जरूर चेक करें,अगर उस में प्रोटीन की मात्रा पर 100 ग्राम  मैं कम है जैसे 50 से 60 पर सेंट या 65 से 70 परसेंट तो वह प्रोटीन हमारी बॉडी के लिए उतना सही नहीं है  और यह एक प्रकार  की  पैसे की बर्बादी कह सकते है|😳😳

अगर किसी प्रोटीन पाउडर मै  पर 100 ग्राम प्रोटीन की मात्रा   मैं 70 से 80, 85  ग्राम तक है तो यह आपके लिए सही है👌👌👌👌👌

3) अगर आपका प्रोटीन पाउडर पानी में आसानी से  मिलाने पर मिल नहीं रहा है तो ध्यान  रखें यह प्रोटीन पाउडर आपके लिए उतना सही नहीं है|
 क्योंकि इसमें डेक्सोना,चुना,मिल्क पाउडर,और आटा जैसे कुछ चीजें  मिली हुई हो सकती हैं|👌👌

4) कोई भी प्रोटीन पाउडर लेने से पहले  fssai  का टैग अच्छे से चेक कर ले✅

 प्रयोग:- 🤔🤔🤔🤔🤔🤔




  👉 इसका प्रयोग सभी प्रकार में किया जाता है,शरीर का वजन कम करने में, वजन बढ़ाने में, शरीर को फिट रखने में, और एक शरीर को सुचारू रूप से चलाने में,  क्योंकि हमारे शरीर का हर एक अंग प्रोटीन से ही बना हुआ होता है चाहे वह  बाल ही क्यों ना हो,हर एक चीज में प्रोटीन यूज होती ही होती है|

 👉ज्यादातर समय इसका प्रयोग  बॉडी बिल्डिंग के लिए लोग करते हैं

 जैसे अगर आपको अपने बॉडी का वेट बढ़ाना है तो आपको दिन में इसे 2 बार यूज करना है, सुबह और शाम खाने के बाद,या फिर खाने के साथ दूध के साथ पानी के साथ या जूस बगैरा के साथ आप ले सकते हो |


👉 और अगर आपको  वेट घटाना है तो आप इसे दिन में एक टाइम यूज कर सकते हैं
 और बॉडी को सुचारू रूप से चलाने के लिए आप नॉर्मल ही दिन में से एक टाइम यूज कर सकते हैं इससे कोई हानि नहीं होगी अगर आपका प्रोटीन नेचुरल है तो|

▶ प्रकार:- 🤔🤔🤔🤔🤔

       👉  यह बाजार में आपको अलग-अलग प्रकार से मिल जाएगी उनमें से कुछ इस प्रकार से हैं:-
1) आइसो प्रोटीन  - 100% /100grm
2)  गोल्ड प्रोटीन  - 90%  के आसपास
3)  रॉ प्रोटीन  - 70  से 85  के आसपास
4)  व्हे प्रोटीन  -  फ्लेवर एडिट प्रोटीन

 👉👉अगर इनमें से बात करूं तो आइसो प्रोटीन उन लोगों को लेना चाहिए जो कि बॉडीबिल्डिंग कंपटीशन  वगैरा में, एक्स्ट्रा मसल अपनी बनाना चाहते हैं तो उनके लिए सही है|

   


 👉 शरीर को सुचारू रूप से चलाने के लिए  या एक अच्छी फिट बॉडी के लिए गोल्ड प्रोटीन  या raw या व्हे प्रोटीन एक अच्छी ऑप्शन है,   बस आपको यहां मिलाकर का ध्यान रखना है|

   


👉 अगर आपका प्रोटीन सही नहीं है तो यह  आपको कुछ साइड इफेक्ट भी दिखा सकता है -😳😳😳😳😳

 👉जैसे  आपके इम्यून सिस्टम का वीक होना, डाइजेस्टिव सिस्टम का वीक होना,  चेहरे पर या बैक पर एक्ने आना,ऐसे कुछ साइड इफेक्ट दिखा सकता है|





 इसके अलावा प्रोटीन पाउडर के बारे में और जानकारी के लिए  जैसे कौन सी कंपनी का ले,कौन सा सही रहेगा ना रहेगा, कितने पर्सेंट  वाला ले,  इस ईमेल एड्रेस पर कांटेक्ट करें 👇
                  👇
    Jagdishthakur96@gmail.com